Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

इटावा,गरीब मजदूर राजकुमार के लिए के लिए वरदान बनी आयुष्मान योजना.

post

इटावा,गरीब मजदूर राजकुमार के लिए के लिए वरदान बनी आयुष्मान योजना

इलाज के अभाव से जूझने वालों को मिल रहा है बेहतर उपचार- मुख्य चिकित्सा अधिकारी

इटावा 12 सितंबर 2022।

मजदूरी करके परिवार का भरण-पोषण करने वाले राजकुमार का परिवार कल तक चिंता में डूबा था। इसी वर्ष अगस्त माह में राजकुमार छत के किनारे दीवार पर से पैर फिसल कर दो मंजिल से नीचे जा गिर गये | इलाज कराने को पैसा नहीं था। घर मजदूरी से चलता है। घरवाले जिला अस्पताल लेकर आए तो पता चला हाथ और पैर दोनों में फैक्चर है स्थिति गंभीर थी तुरंत भर्ती कराया गया। भला हो आयुष्मान कार्ड का जो राजकुमार नें वर्ष 2021 में बनवाया था जिसके तहत उनका पूरा इलाज निःशुल्क हुआ है |

ग्राम डिबोली-चकरनगर निवासी राजकुमार ने बताया वर्ष 2021 में आयुष्मान कार्ड बनवाया। तब सोचा नहीं था इस कार्ड की मदद से परेशानी के समय बहुत बड़ी मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि एक हादसे में मेरा हाथ व पैर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था। घरवाले जब जिला अस्पताल ले गये तो वहां तैनात आयुष्मान मित्र अनिकेत ने बताया आपके पास आयुष्मान कार्ड है इसलिए आपका सारा इलाज निशुल्क होगा। मुझे बड़ी राहत मिली। राजकुमार ने बताया डॉ दीपक गुप्ता ने 31 अगस्त और 9 सितंबर को मेरी दोनों सर्जरी कर दी। अब मैं पूरी तरह स्वस्थ हूं।

जिला अस्पताल के हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ दीपक गुप्ता ने बताया कि राजकुमार की कोहनी की हड्डी चूर-चूर हो गई थी और जांघ की हड्डी भी बुरी तरह से कई जगह से टूटी हुई थी। डॉ गुप्ता ने बताया 31 अगस्त को पहले कोहनी का ऑपरेशन किया गया जो पूरी तरह से सफल रहा और बाद में 9 सितंबर को उनके पैर का ऑपरेशन किया गया। उन्होंने सभी जनपदवासियों से की कि जिन लोगों के पास आयुष्मान कार्ड हैं वह लाभ लें और निशुल्क इलाज अवश्य करवाएं। जिस तरह से परेशानी के समय आयुष्मान कार्ड से राजकुमार को आर्थिक राहत मिली उसी तरह से अन्य लोग भी इस तरह की निशुल्क सुविधाएं मिल सकती हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ गीता राम ने बताया कि राजकुमार जैसे और भी गरीब परिवारों के लिए योजना वरदान साबित हो रही है। गंभीर बीमारियों से जूझने वाले मरीजों का मुफ्त में उपचार हो रहा है। जिससे इन परिवारों की खुशियां लौट आई है। उन्होंने बताया आयुष्मान कार्ड के अंतर्गत कई  प्रकार के मेडिकल पैकेज की सुविधा है। इसमें निशुल्क सर्जरी, डे केयर दवाओं का खर्चा जांच का खर्चा आदि शामिल है। उन्होंने बताया जनपद में 17,4572 आयुष्मान कार्ड बन चुके हैं और 11,552 लाभार्थी आयुष्मान कार्ड के तहत अब तक इलाज का लाभ ले चुके हैं। सीएमओ ने बताया कि यदि किसी प्रकार की इमरजेंसी न हो तो वह पहले अपने नजदीकी राजकीय स्वास्थ्य केंद्र, जिला अस्पताल, मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में संपर्क करें एवं वहां तैनात आयुष्मान मित्र से परामर्श लेकर अपनी सुविधानुसार उचित अस्पताल में उपचार कराएं। आबद्ध किए गए अस्पतालों में उनकी क्षमता के आधार पर अलग-अलग बीमारियों का इलाज उपलब्ध है। कभी-कभी मरीज ऐसे अस्पतालों में चले जाते हैं जो योजना के लिए आबद्ध तो है, मगर वहां उस बीमारी का उपचार नहीं होता। फिर ऐसे में शिकायतें आती है।

टोल फ्री नंबर का भी करें प्रयोग

आयुष्मान योजना के अंतर्गत कार्डधारकों को अगर उपचार कराने में किसी किस्म की कोई दिक्कत आ रही है तो वो टोल फ्री नंबर 14555 पर कॉल कर सकते है। इस नंबर पर कॉल करने के साथ ही मरीज की समस्याओं का समाधान होना शुरू हो जाता है।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner