Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

शाहजहाँपुर,तहसील समाधान दिवस में एसडीएम ने सुनी फरियादियों की शिकायतें.

post

शाहजहाँपुर,तहसील समाधान दिवस में एसडीएम ने सुनी फरियादियों की शिकायतें


तहसील समाधान दिवस में आई 17  शिकायतों में से दो का मौके पर निस्तारन


कलान शाहजहांपुर


तहसील समाधान दिवस एसडीएम कलान  की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। समाधान दिवस में आईं 17 शिकायतों में से मौके पर दो ही शिकायतों का निस्तारण हो सका। अन्य के निस्तारण के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए।


शनिवार को तहसील सभागार में आयोजित तहसील समाधान दिवस में एसडीएम कलान सतीश चंद्रा ने फरियादियों की शिकायतें सुनी। समाधान दिवस में कुल 17 शिकायतें आईं। जिनमें से मौके पर दो शिकायतों का निस्तारण हो सका। प्राप्त शिकायतों में आठ पुलिस विभाग एवं आठ राजस्व विभाग तथा एक विद्युत विभाग से संबंधित शिकायत थी। राजस्व विभाग से संबंधित दो शिकायतों का निस्तारण कर दिया गया। समाधान दिवस में कलान थाने पर दर्ज गैंगरेप के मुकदमे में अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु पीड़िता ने एसडीएम को प्रार्थना पत्र दिया पीड़िता का आरोप है कि पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं कर रही है।जिससे आरोपियों हौसले बुलंद हैं।


 वहीं थाना क्षेत्र के एक गांव की दुष्कर्म पीड़िता ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए बताया कि वह थाने पर अपनी शिकायत लेकर गई हुई थी। लेकिन दरोगा ने कार्रवाई करने की बजाय उल्टा उससे और उसके पति से जबरदस्ती एक सादा कागज पर हस्ताक्षर करा लिए। पीड़िता ने एसडीएम से प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है। समाधान दिवस में खंड विकास अधिकारी कलान राम किशोर सिंह,एसडीओ विद्युत राजेश कुमार सिंह,एडीओ समाज कल्याण निर्मला मिश्रा,पूर्ति निरीक्षक महेश,जेई एमआई अरविंद कुमार राजपूत,जेई नलकूप रामपाल,चकबंदी कानूनगो गोकिलराम, मुख्य सेविका बाल विकास विभाग सुनीता देवी,एडीओ कृषि विभाग रामराज सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


बॉक्स-

देर से आए साहब ........मायूस होकर लौटे फरियादी


मुख्यमंत्री के आदेशों को नहीं मानते एसडीएम एवं तहसीलदार


 न समय पर कार्यालय आते हैं और न ही रात्रि में तैनाती स्थल पर रुकते हैं

कलान-शाहजहांपुर


तहसील पर आयोजित समाधान दिवस में एसडीएम कलान सतीश चंद्रा व तहसीलदार दुर्गेश यादव सहित अन्य कई अधिकारी समाधान दिवस में देरी से आए। दोनों अधिकारी इतने लापरवाह हैं कि लगभग 11 बजे समाधान दिवस में पहुंचे। जिससे कई फरियादी मायूस होकर बैरंग वापस लौट गए। एसडीएम व तहसीलदार मुख्यमंत्री के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। शासन की मंशा के अनुरूप कार्य नहीं करते हैं। एसडीएम व तहसीलदार शासन की छवि धूमिल करने पर उतारू है। वहीं शनिवार सुबह 10 बजकर 5 मिनट पर जब मीडिया कर्मी समाचार संकलन हेतु तहसील पहुंचे तो एसडीएम और तहसीलदार की कुर्सियां खाली मिली। यहां तक दोनों अधिकारी अपने अपने कार्यालय से भी नदारद थे। वहीं सुबह 10 बजे से आयोजित होने वाले तहसील समाधान दिवस में 10 बजकर 40 मिनट तक सभागार में साफ-सफाई भी नहीं हुई थी। खंड विकास अधिकारी कलान रामकिशोर सिंह 9:40 पर समाधान दिवस में उपस्थित थे। वहीं तमाम कुर्सियां खाली पड़ी दिखीं। जिसके चलते समाधान दिवस में फरियादियों की संख्या में कमी रही।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner