Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

गोरखपुर,विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह शुरू मच्छरों का करें खात्मा, बुखार हो तो सरकारी अस्पताल में जाएं.

post

गोरखपुर,विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह शुरू मच्छरों का करें खात्मा, बुखार हो तो सरकारी अस्पताल में जाएं


साफ-सफाई और बीमारियों की रोकथाम के संदेश को समुदाय तक पहुंचाने की कोशिश


विधायक ने चरगांवा पीएचसी से किया जिला स्तरीय अभियान का शुभारंभ


खोराबार और सहजनवां पीएचसी पर भी वहां के स्थानीय विधायक ने किया उद्घाटन


*गोरखपुर, 02 अप्रैल 2022*


आसपास साफ सफाई रखें । मच्छरों का खात्मा करें और बुखार हो तो सरकारी अस्पताल में ही दिखाएं। इन मुख्य संदेशों के साथ विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान माह का शनिवार से शुभारंभ हो गया । जिले के सभी सरकारी अस्पतालों और ग्यारह अन्य विभागों में संचारी रोगों के रोकथाम की शपथ ली गयी । जिला स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ पिपराईच के विधायक महेंद्र पाल सिंह ने चरगांवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से किया। खोराबार और सहजनवां पीएचसी पर भी ब्लॉक स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ भी वहां के स्थानीय विधायक विपिन सिंह व प्रदीप शुक्ला ने किया ।


कार्यक्रम के उद्घाटन अवसर पर चरगांवा से प्रचार वाहन को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया गया । यह वैन समुदाय में संचारी रोगों के प्रति जनजागरूकता का प्रसार करेगी । अंग्रिमपंक्ति कार्यकर्ताओं और स्वास्थ्यकर्मियों ने इस मौके पर रैली भी निकाली । एसीएमओ आरसीएच डॉ नंद कुमार की अगुआई में खोराबार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ । अलग-अलग स्वास्थ्य केंद्रों का सहयोगात्मक पर्यवेक्षण क्षेत्रीय अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारियों द्वारा किया गया ।


जिला स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक महेंद्र पाल सिंह ने कहा कि सामुदायिक प्रयासों से ही सरकार द्वारा किये जाने वाले प्रयास फलीभूत होंगे। विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान और दस्तक पखवाड़े के जरिये ही पूर्वांचल की इंसेफेलाइटिस जैसी महामारी नियंत्रण में आई है । उन्होंने मौजूद लोगों को शपथ दिलाई कि वह स्वच्छता अपनाएंगे और समुदाय को बीमारियों से बचाएंगे । उन्होंने पंचायती राज विभाग से अपील की कि गांव-गांव में युद्ध स्तर पर सफाई अभियान चलाया जाए । ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि रणविजय सिंह मुन्ना ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया ।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष कुमार दूबे ने बताया कि 02 अप्रैल से 30 अप्रैल तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण माह चलेगा जबकि 15 अप्रैल से 30 अप्रैल तक दस्तक पखवाड़ा आयोजित होगा । विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के दौरान महीने भर स्वास्थ्य विभाग जनजागरूकता अभियान, रोगियों के उपचार की व्यवस्था, संचारी रोगों और दिमागी बुखार की निगरानी, अंग्रिम पंक्ति कार्यकर्ताओं द्वारा चिन्हित संचारी रोग और कोविड के लक्षण युक्त व्यक्तियों की जांच की व्यवस्था, लक्षण के अनुसार क्षय रोगियों के जांच की व्यवस्था, मच्छरों की दृष्टि से हाई रिस्क वाले क्षेत्रों में अन्तर्विभागीय सहयोग से मच्छरों को समाप्त करने की व्यवस्था, रोगियों के निःशुल्क परिवहन की व्यवस्था, ग्राम एवं नगर विकास विभाग के सहयोग से वाहक नियंत्रण गतिविधियां, प्रचार प्रसार व व्यवहार परिवर्तन गतिविधियां और नोडल विभाग के तौर पर अन्य व्यवस्थाएं देखेगा ।


डॉ. दूबे ने बताया कि आईसीडीएस, ग्राम विकास एवं पंचायती राज विभाग, शिक्षा विभाग, नगर निगम या शहरी विकास विभाग, कृषि विभाग, पशुपालन विभाग, दिव्यांग कल्याण, स्वच्छ भारत मिशन, सूचना, संस्कृति और चिकित्सा शिक्षा विभाग को भी विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है । आईसीडीएस विभाग जनजागरूकता के साथ-साथ कुपोषित बच्चों की पहचान और उपचार के लिए संदर्भन करेगा। पंचायती राज विभाग साफ-सफाई, झाड़ियों की कटाई, हैंडपंप मरम्मत, जनजागरूकता और निगरानी समितियों के माध्यम से कोविड के लक्षणयुक्त व्यक्तियों को दवा उपलब्ध करवाएगा। शिक्षा विभाग स्कूलों में जनजागरूकता की गतिविधियां करेगा । कृषि विभाग छछूंदर और चूहे को नियंत्रित करने की गतिविधियां करेगा । पशुपालन विभाग सूकर बाड़ों को आबादी से दूर ले जाने की गतिविधियां करेगा और पशुपालकों को पशुपालन स्थलों पर स्वच्छता के प्रति जागरूक करेगा । स्वच्छ भारत मिशन के तहत उच्च रोगभार वाले ग्रामों को प्राथमिकता के आधार पर खुले में शौच से मुक्त किया जाएगा । नगरीय निकाय विभाग वेक्टर नियंत्रण के अलावा मोहल्ला निगरानी समितियों के माध्यम से जनजागरूकता फैलाएगा और कोविड के लक्षण युक्त व्यक्तियों को मेडिसिन किट देगा ।


इस अवसर पर जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ एके चौधरी, जिला कुष्ठ रोग अधिकारी डॉ गणेश प्रसाद यादव, जिला मलेरिया अधिकारी अंगद सिंह, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी केएन बरनवाल, उप जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी सुनीता पटेल, सहायक मलेरिया अधिकारी राजेश चौबे, चरगांवा के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ धनंजय कुशवाहा, यूनीसेफ के डीएमसी डॉ हसन फहीम, नीलम यादव, चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रफुल्ल राय, डॉ सविता गौड़, डॉ. अमरनाथ, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी मनोज कुमार, आरबीएसके चिकित्सा अधिकारी डॉ मनोज मिश्रा, डॉ वीके सिंह, डॉ पवन, फार्माशिस्ट अशोक राय, बीपीएम गगन चतुर्वेदी, बीसीपीएम चंद्रशेखर यादव, स्वास्थ्यकर्मी इंद्रजीत, आरसी लाल श्रीवास्तव, एआरओ रामचंद्र सिंह, ज्ञान प्रकाश, मनीष सिंह, लोकेंद्र, मनीष कुमार अग्रहरि, मुन्ना मिश्रा आदि ने विशेष योगदान दिया और उपस्थित लोगों को जागरूक किया । इस मौके पर पूर्व ब्लॉक प्रमुख आनंद शाही, लालजी गुप्ता, रामानंद यादव, आदित्य चौहान, दयाशंकर, नरेंद्र सिंह भी मौजूद रहे ।

   

*दस्तक पखवाड़े की गतिविधियां*


सीएमओ ने बताया कि 15 अप्रैल से शुरू हो रहे दस्तक पखवाड़े के दौरान अग्रिम पंक्ति कार्यकर्ता घर-घर जाएंगी और बुखार के रोगियों की सूची तैयार करेंगी । कुपोषित बच्चों का चिन्हीकरण एवं लाइन लिस्टिंग किया जाएगा । कोविड के रोगियों की भी लाइन लिस्टिंग होगी । घर-घर क्षय रोग के लक्षणों वाले रोगियों का चिन्हीकरण होगा । क्षेत्रवार ऐसे मकानों की सूची तैयार होगी जहां मच्छरों का प्रजनन अधिक पाया गया हो । इस प्रकार चिन्हित रोगियों को निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जाएगी जबकि मच्छरों के नियंत्रण के प्रभावी उपाय किए जाएंगे ।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner