Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

गोरखपुर,शहर की गलियों से ईंट भट्ठों तक पहुंचीं सघन मिशन इंद्रधनुष की किरणें.

post

गोरखपुर,शहर की गलियों से ईंट भट्ठों तक पहुंचीं सघन मिशन इंद्रधनुष की किरणें


जिलाधिकारी ने शाहपुर यूपीएचसी और सीएमओ ने परमेश्वरपुर ईंट भट्ठे से किया शुभारंभ


टीकाकरण से छूटे दो साल तक के बच्चे और गर्भवती होंगी प्रतिरक्षित


*गोरखपुर, 07 मार्च 2022*


सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान की किरणें शहर की गलियों से लेकर ईंट भट्ठों तक पहुंचने लगी हैं । जिलाधिकारी विजय किरण आनंद ने शाहपुर शहरी स्वास्थ्य केंद्र (यूपीएचसी) से और मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आशुतोष कुमार दूबे ने चरगांवा ब्लॉक के परमेश्वरपुर स्थित ईंट भट्ठे से सोमवार को अभियान का शुभारंभ किया। इसके तहत टीकाकरण से छूटे  दो साल तक के बच्चों और गर्भवती को शत-प्रतिशत प्रतिरक्षित किया जाना है ।


जिलाधिकारी की पहल पर सीएमओ के दिशा-निर्देशन में पहली बार जिले के ईंट भट्ठों पर टीकाकरण के साथ-साथ स्वास्थ्य जांच की भी योजना है । इसी कड़ी में जिलाधिकारी ने जहां यूपीएचसी पर 10 माह के बच्चे अरसलान को विटामिन ए की डोज पिलाया और अभियान का आगाज किया, वहीं सीएमओ गोरखपुर ईंट भट्ठे पर पहुंचे । सीएमओ ने छत्तीसगढ़ की रहने वाली चंद्रकला के छह साल के बेटे भोयस को विटामिन ए की खुराक पिलाई । बिहार के रहने वाले शिवकुमार के पांच साल के बेटे किशन को टीका भी लगाया गया । किशन ने बताया कि वह बचपन से ही ईंट भट्ठों पर नौकरी कर रहे हैं। उन्होंने बिहार और यूपी दोनों स्थानों पर नौकरी की है, लेकिन पहली बार किसी ईंट भट्ठे पर इस प्रकार कार्यक्रम देखा और शामिल हुए । 


शाहपुर यूपीएचसी पर अरसलान को टीका लगवाने पहुंचे उनके माता-पिता आफताब और सानिया ने बताया कि उनके जुड़वा बच्चे अर्स और अरसलान को पहले वह निजी अस्पताल में टीका लगवाने पहुंचे थे, लेकिन वहां दो डोज का आठ हजार रुपये का खर्च आ रहा था। क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता ने उन्हें बताया कि यूपीएचसी पर निःशुल्क टीका लगता है। इसके बाद से ही वह लोग यूपीएचसी की सेवाएं ले रहे हैं और पूरी तरह से संतुष्ट हैं। टीका लगने के बाद बच्चे को जब बुखार और शरीर पर टीका वाले स्थान के पास सूजन की शिकायत आई तो चिकित्सक डॉ. हरप्रित ने उन्हें समझाया कि यह सामान्य लक्षण है और इससे बचाव की दवा भी दी। उन्हें अब भरोसा है कि सरकारी टीका पूरी तरह से सुरक्षित और असरदार है । इस अवसर पर शाहपुर यूपीएचसी पर शीला देवी, उर्वसी, शैल देवी, शालिनी, रमावती, सत्येंद्र, टूनटून, अनूप कुमार, रीता देवी, रीता गुप्ता, पवन, मनोनिता और अश्वनी ने टीकाकरण के लिए आए लाभार्थियों को सहयोग प्रदान किया ।


परमेश्वपुर ईंट भट्ठे के मैनेजर मुकेश ने बताया कि वह दस वर्षों से ईंट भट्ठे के कारोबार में हैं, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की यह अनूठी पहल उन्होंने पहली बार देखी है । कार्यक्रम के लिए प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. धनंजय कुशवाहा, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी (एचईओ) मनोज कुमार और एआरओ रामचंद्र सिंह और उनकी टीम के प्रति उन्होंने आभार जताया । परमेश्वरपुर ईंट भट्ठे पर भट्ठा श्रमिकों समेत आसपास के गांवों से सात बच्चों और चार गर्भवती का टीकाकरण किया गया । 14 लोगों को कोविड का भी टीका लगाया गया । इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एएन प्रसाद, उप जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी सुनीता पटेल, एआरओ एसएन शुक्ला, डब्ल्यूएचओ के सर्विलांस मेडिकल ऑफिसर डॉ. संदीप पाटिल, यूनीसेफ की डीएमसी नीलम यादव व डॉ. हसन फहीम, यूएनडीपी के वरिष्ठ अधिकारी राजीव रंजन और जिला प्रतिनिधि पवन कुमार सिंह प्रमुख तौर पर मौजूद रहे ।


*15 मार्च तक चलेगा अभियान*


जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एएन प्रसाद ने बताया कि मिशन इंद्रधनुष पंद्रह मार्च तक चलेगा, जिसमें 11652 बच्चों और 3813 गर्भवती के टीकाकरण पर जोर रहेगा । अभियान में 669 एएनएम, 3647 आशा, 2282 आंगनबाड़ी और 182 सुपरवाइजर की ड्यूटी लगाई गयी है । 


*आगे आकर कराएं टीकाकरण*


जनपद में जिन लोगों के बच्चों का नियमित टीकाकरण किन्हीं कारणों से छूट गया है वह खुद आगे आकर बच्चों का  टीकाकरण करवा लें । गर्भवती को भी टीका लगवाना है । नियमित टीके 12 प्रकार की बीमारियों से बचाव करते हैं । पांच साल में सात बार नियमित टीकाकरण जरूरी है। टीकाकरण सत्र की जानकारी के लिए आशा और एएनएम से संपर्क कर सकते हैं।


डॉ. आशुतोष कुमार दूबे, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner