Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

कानपुर,बच्चे तम्बाकू सेवन न करने की लेंगे शपथ, बड़ों को भी करेंगे प्रेरित.

post

कानपुर,बच्चे तम्बाकू सेवन न करने की लेंगे शपथ, बड़ों को भी करेंगे प्रेरित

“सार्वजानिक स्थानों पर धूम्रपान निषेध” विषय पर लिखा निबंध 

जनपद को तम्बाकू मुक्त बनाने का करेंगे प्रयास 

कानपुर, 01 अक्टूबर 2021 । गाँधी जयंती  पर शनिवार को जिले भर में अनेक कार्यक्रम आयोजित होंगे । इस अवसर पर स्कूलों के बच्चे राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत तम्बाकू या तम्बाकू युक्त पदार्थ का सेवन न करने की शपथ लेंगे ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नैपाल सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत सभी शिक्षण संस्थानोंको तम्बाकू मुक्त बनाने के लिए शासन की ओर से निर्देश हैं । इसी क्रम में शिक्षा विभाग को अवगत कराया गया था और विद्यालयों में तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ की ओर से विभिन्न गतिविधियाँ की जा रही हैं । उन्होंने बताया कि वर्ष 2008 में 02 अक्टूबर को ही कोटपा अधिनियम 2003 की धारा – 4 ( सार्वजानिक स्थानों पर  धूम्रपान निषेध ) का प्रावधान किया  गया था । इस अधिनियम को आज 13 वर्ष पूरे हो गए हैं, इसी उपलक्ष पर शुक्रवार के दिन जिले के समस्त शहरी एवं ग्रामीण स्कूलों में कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थियों के लिए निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । निबंध प्रतियोगिता का विषय “सार्वजानिक स्थानों पर  धूम्रपान निषेध” था । जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पवन त्रिपाठी की ओर से इस प्रतियोगिता के लिए सभी विद्यालयों को पत्र लिखा गया था । इस निबंध प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश बच्चों में तम्बाकू सेवन के नुकसान, और कोटपा अधिनियम के अन्तर्गत सार्वजानिक स्थानों पर  धूम्रपान न करना और तम्बाकू युक्त किसी भी पदार्थ से दूर रहने के लिए जागरूक करना था ।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पवन त्रिपाठी ने बताया कि शनिवार को  स्कूलों में  गाँधी जयंती पर शपथ ग्रहण कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा । इसमें विद्यार्थी स्वयं तम्बाकू युक्त पदार्थों का सेवन न करने की शपथ लेंगे और अपने माता-पिता को भी तम्बाकू सेवन से रोकेंगे और उन्हें  तम्बाकू से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करेंगे । 

क्या है कोटपा एक्ट – कोटपा ( सिगरेट एंड अदर टोबैको प्रोडक्ट एक्ट ) या तम्बाकू नियंत्रण कानून के अनुसार- सार्वजानिक स्थलों पर  धूम्रपान निषेध है । इसके साथ शैक्षणिक संस्थानों के 100 गज की परिधि में तम्बाकू उत्पाद नही बेचा जा सकता । 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को तम्बाकू उत्पाद नहीं बेचा जा सकता । विद्यालय/ शैक्षणिक संस्थानों में धुम्रपान प्रतिबंधित है । सिगरेट या किसी भी तम्बाकू उत्पाद का प्रचार किसी भी प्रकार से नहीं किया जा सकता ।

तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ की ओर से जिला समन्वयक निधि बाजपेई ने बताया कि तम्बाकू नियंत्रण के लिए विद्यालयों में कार्यक्रम के अन्तर्गत जागरूकता कार्यक्रम चलाये जाते हैं । इसी क्रम में निबंध प्रतियोगिता आयोजित की गई थी और आज विद्यालयों में शपथ ग्रहण कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा ।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner