Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

सिधौली,गौशालाओ मे हो रही मौतों को लेकर एन सी पी जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह ने दिया ज्ञापन .

post

सिधौली,गौशालाओ मे हो रही मौतों को लेकर एन सी पी जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह ने दिया ज्ञापन 


सीतापुर । जनपद सीतापुर मे सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट गौशालाओ मे प्रशासन की लापरवाही के चलते हो रही मौतों को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी सीतापुर को सौंपा  । उन्होंने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि प्रशासन व कार्यदायी संस्थाओं की घोर लापरवाही से समय पर चारा न पहुच पाने की वजह से गौशालाओ मे गौवंशो की भूख से निर्मम मृत्यु व अकाल मृत्यु हो रही है । जनपद सीतापुर में प्रशासन द्वारा गैर जनपद की कार्यदायी संस्थाओं को चारा पहुचाने की सप्लाई का कार्य दिया गया है जिस कारण शासन द्वारा करोड़ो रूपये खर्च करने के बाद भी   गौवंशो की भूख से लगातार मृत्यु की घटनाएं सामने आ रही है । सरकार द्वारा गौरक्षा हेतु गौशाला निर्माण कराई गई परन्तु कुछ भ्रष्टाचारियों के चलते सरकार की महत्वाकांक्षी योजना दिन प्रतिदिन विफल होती दिखाई दे रही है । गैर जनपद की कार्यदायी संस्था समय से गौशालाओं में चारा न  पहुचा पाने की वजह से दिन प्रतिदिन दर्जनों की संख्या में गौशाला में गौ व गौवंशो की भूख से निर्मम मृत्यु  हो रही और जिला प्रशासन प्रकरण दबाने की कोशिश में लगातार प्रयासरत है । 

जिसका जीता जागता  उदाहरण विकास खण्ड एलिया के कलर्कनगर ग्राम पंचायत में बनी  गौशाला व विकास खण्ड कसमंडा की बहरीमऊ ग्राम पंचायत मे बनी गौशाला है । बिकास खण्ड कसमण्डा में एक बार फिर से  ग्राम पंचायत बहिरीमऊ मे बने गौशाला मे   सनसनी फैला देने वाली वारदात हुई । अभी चंद समय ही बीता था विकास खंड कसमंडा के ग्राम पंचायत  रेवरी में  गौ व गौवंशो की मृत्यु के चलते पूरे जनपद मे कसमंडा विकास खण्ड  की किरकिरी हुई थी ।   लेकिन फिर भी गौ व गौवंशो की मृत्यु मे लिप्त प्रशासन के अधिकारियों की लापरवाही देखने को मिली है और बहिरीमऊ गौशाला मे 17/09/2021को रात मे लगभग एक दर्जन से अधिक गौ व गौवंशो की मृत्यु हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ गाय बीमार अचेत अवस्था में पड़ी थी जिनको देखकर ग्रामीणों ने मृत समझकर प्रशासन को सूचना की दिन प्रतिदिन इस गौशाला मे  मृत गोवंश को  जंगल झाड़ियों में फेंक दिया जाता है जब गौशाला का निरीक्षण किया गया जो टैंक में पानी की मात्रा भी नहीं थी टैंक में पानी  तलहटी में पाया गया जिसमें काफी गंदगी पड़ी हुई थी काफी दिन से  साफ सफाई नहीं हुई थी गौशाला में चार केयरट्रैकर तैनात है जो एक भी केयरट्रैकर मौके पर उपलब्ध नहीं था। मौके पर 172 गोवंश उपलब्ध मिले। जबकि 190 गोवंश पंजीकृत है। जिनको संलिप्त अधिकारियों की सांठगांठ से गौशाला परिसर के बाहर जंगली झाड़ियों में फेंकवा दिया गया जिनको कोवे शियार कुत्ते नोच नोच कर खा रहे थे। जिसकी सूचना तहसील स्तर से लगाकर जिले स्तर पर सभी उच्चाधिकारियों को दी गई लेकिन मौके पर 5:00 बजे शाम तक कोई भी उच्चाधिकारी नहीं पहुंचा ग्राम प्रधान पंचायत सचिव एडीओ पंचायत एवं कमलापुर पुलिस प्रशासन थानाध्यक्ष रणवीर सिंह मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को  समझा-बुझाकर मौके से विदा कर दिया गया और बताया गया कि मृत गायों को जेसीबी मंगवा कर डॉक्टर के द्वारा पोस्टमार्टम कराकर मिट्टी में दबाने का कार्य कर दिया जाएगा ।

 शासन द्वारा  करोड़ो रुपये खर्च कर गौशाला मे गौ व गौवंशो की भूख से निर्मम मृत्यु को रोकने के सम्बंध में उचित कार्यवाही की माँग एवं  साथ ही संलिप्त प्रशासन के अधिकारी व कार्यदयी सस्थाओ पर कार्यवाही करनी की मांग की गई है।  जिससे गौशालाओ में गौ व गौवंशो की भूख से निर्मम मृत्यु को रोका जा सके ।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner