Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

सीतापुर, प्रजनन स्वास्थ्य और छोटे परिवार के प्रति जागरूकता बेहद जरूरी: जावेद .

post

सीतापुर, प्रजनन स्वास्थ्य और छोटे परिवार के प्रति जागरूकता बेहद जरूरी: जावेद 

- छोटे परिवार के बड़े फायदे बताने को आयोजित हुआ सास-बहू-बेटा सम्मेलन 

- पहले दिन 301 उपकेंद्रों पर 13,962 ग्रामीणों ने किया प्रतिभाग 

सीतापुर, 21 सितंबर। छोटे परिवार के बड़े फायदे हैं, आमजन को यह मूलमंत्र बताने के लिए स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान में  एक माह का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। सोमवार (20 सितंबर) से शुरू हुआ यह विशेष अभियान आगामी 20 अक्टूबर तक जारी रहेगा। जिले के 465 उप स्वास्थ्य केंद्रों में से अभियान के पहले दिन 301 और दूसरे दिन मंगलवार को तीन सौ स्वास्थ्य उप केंद्रों पर सास-बहू-बेटा सम्मेलन का आयोजन किया गया। सोमवार को आयोजित इन सम्मेलनों में 13,962 लोगों ने प्रतिभाग किया। 

सिधौली ब्लॉक के सिंहपुर और गोंदलामऊ ब्लॉक के औरंगाबाद स्वास्थ्य उप केंद्रों पर आयोजित सास-बहू-बेटा सम्मेलन में प्रतिभागियों से बातचीत करते हुए परिवार कल्याण प्रबंधन के जावेद खान ने बताया कि सास-बहू-बेटा सम्मेलन के आयोजन का मुख्य उद्​देश्य सास और बहू के मध्य समन्वय  और संवाद को उनके पारस्परिक अनुभवों के आधार पर रूचिकर खेलों और गतिविधियों के माध्यम से बेहतर बनाना है, जिससे वह प्रजनन स्वास्थ्य और छोटे परिवार के प्रति जागरूक हो सकें। उन्होंने प्रतिभागियों को बताया कि गर्भवती यदि समय से टीकाकरण और संस्थागत प्रसव कराती हैं तो हम जच्चा और बच्चा की होने वाली मौतों पर काफी हद तक अंकुश लगा सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए हर क्षेत्र में आशा कार्यकर्ता काम कर रही है, जिससे कि हम सब मिलकर मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम कर सकें। गर्भ निरोधक साधनों को अपनाने पर लोगों को मिशन परिवार विकास की ओर से प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है। सास-बहू-बेटा सम्मेलनों के आयोजन को रोचक बनाने के लिए प्रश्नोत्तरी, रंगोली और गुब्बारा प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया और प्रतिभागियों की शंकाओं का समाधान भी किया गया।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner