Breaking News

ब�रेकिंग न�यूज़

सिधौली, हर तालिका व्रत कजरी तीज मंदिर का प्रथम महोत्सव है : स्वामी प्रकाशानंद.

post

सिधौली, हर तालिका व्रत कजरी तीज मंदिर का प्रथम महोत्सव है : स्वामी प्रकाशानंद 


सिधौली(सीतापुर)स्थानीय कस्बे के श्री सिद्धेश्वर महादेव धाम में श्री राधाकृष्ण मंदिर समिति के प्रबंधक स्वामी प्रकाशानंद सरस्वती के द्वारा हरतालिका व्रत (कजरी तीज) 41 वाँ महोत्सव कोविड 19 नियमो को ध्यान में रखते हुये  मनाया गया। कथावाचिका धेनुमती शुक्ला के द्वारा भगवान शंकर की महिमा का बखान किया गया उन्होंने कहा कि हरतालिका तीज का व्रत हिन्दू धर्म में सबसे बड़ा व्रत माना जाता हैं। यह तीज का त्यौहार भाद्रपद मास शुक्ल की तृतीया तिथि को मनाया जाता हैं। विधि-विधान से हरितालिका तीज का व्रत करने से जहाँ कुंवारी कन्याओं को मनचाहे वर की प्राप्ति होती है,वहीं विवाहित महिलाओं को अखंड सौभाग्य मिलता है। हरतालिका तीज में भगवान शिव,माता गौरी एवम गणेश जी की पूजा का महत्व हैं। यह व्रत निराहार एवं निर्जला किया जाता हैं। शिव जैसा पति पाने के लिए कुँवारी कन्या इस व्रत को विधि विधान से करती हैं।महिलाओं में संकल्प शक्ति बढाता है। हरितालिका तीज का व्रत महिला प्रधान है। इस दिन महिलायें बिना कुछ खायें-पिये व्रत रखती है।यह व्रत संकल्प शक्ती का एक अनुपम उदाहरण है। संकल्प अर्थात किसी कर्म के लिये मन मे निश्चित करना कर्म का मूल संकल्प है।इस प्रकार संकल्प हमारी अन्तरीक शक्तियोंका सामोहिक निश्चय है।इसका अर्थ है-व्रत संकल्प से ही उत्पन्न होता है। व्रत का संदेश यह है कि हम जीवन मे लक्ष्य प्राप्ति का संकल्प लें। संकल्प शक्ति के आगे असंम्भव दिखाई देता लक्ष्य संम्भव हो जाता है।माता पार्वती ने जगत को दिखाया की संकल्प शक्ति के सामने ईश्वर भी झुक जाता है। कथा प्रवचिका के  सुन्दर सुंदर भजनों मंदिर परिसर गुंजायमान हो गया। सिध्देश्वर मंदिर प्रांगण में महिलाओं ने पूजन व वंदन किया। मंदिर के प्रबंधक स्वामी प्रकाशानंद सरस्वती महाराज ने बताया कि

हर तालिका व्रत कजरी तीज

मंदिर का प्रथम महोत्सव है और इसी से मंदिर विकास अभियान का शुभारंभ हुआ प्रबंध समिति  विकास योजना में सतत प्रयत्नशील है हरतालिका व्रत लक्ष्य प्राप्ति का एक दृढ़ निश्चय है इससे आंतरिक शक्ति की अभि वृद्धि होती है। और उन्होंने कहा कि मैं चातुर्मास साधना के पश्चात् नैमिषारण्य दर्शन के तदुपरान्त भगवान श्री सिद्धेश्वर महादेव धाम के दर्शन करूँगा। कार्यक्रम के समापन पर गोविन्द चौरसिया के द्वारा प्रसाद वितरण किया गया । इस अवसर पर मंदिर के अध्यक्ष अनिल मिश्रा,रामाआसरे पाण्डेय, आलोक जायसवाल,कमलेश कटियार,आलोक शर्मा,पंडित सागर दीक्षित,पं0सुधीर मिश्रा, पं0अतुल मिश्र,वेद मिश्र पं0 दयाशंकर त्रिपाठी सहित भक्त मौजूद रहे।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner