Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

कमलापुर ,रालोद के जिलाध्यक्ष ने ठाना बन्द पढ़ी चीनी मिल चलवाना .

post

कमलापुर ,रालोद के  जिलाध्यक्ष ने ठाना बन्द पढ़ी चीनी मिल चलवाना 



कमलापुर सीतापुर कमलापुर चीनी मिल विगत 11 वर्षों से बंद पड़ी है । इस चीनी मिल पर गन्ना किसानों का 14 करोड़ 97 लाख रुपया बकाया है । मा० कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा इस चीनी मिल को नीलाम कर दिया गया है । नीलामी के बाद क्षेत्रीय किसानों को ये आस जगी है कि चीनी मिल अब चल जाएगी क्योंकि मा० प्रधानमंत्री जी 2014 की एक जनसभा में पहले ही इसे चलाने का वादा कर चुके हैं और मा० मुख्यमंत्री जी ने भी 30 अप्रैल 2021 को गन्ना किसानों की इंटरनेट बैठक में बंद पड़ी चीनी मिलों को चलाने की बात कही है ।

नीलामी के बाद क्रेता पक्ष गन्ना विभाग व जिला प्रशासन में तालमेल के अभाव के कारण कारण लगता नहीं कि यह चीनी मिल इस वर्ष चल पाएगी । गन्ना विभाग और गन्ना दलाल एक दूसरे के पूरक हैं । जब चीनी मिल बंद हुई थी तो गन्ना विभाग की लापरवाही व तत्कालीन मिल प्रबंधतंत्र से मिलीभगत के कारण ही किसानों की इतनी बड़ी रकम आज तक नहीं मिल सकी है ।

चीनी मिल किसी भी क्षेत्र में हो उससे जो नियोक्ता है उसे आर्थिक लाभ तो होता ही है उस क्षेत्र के किसानों को भी फायदा होता है । गन्ना विभाग बेहतर आंकड़े बता सकेगा लेकिन हमारी जो जानकारी है उस हिसाब से कमलापुर चीनी मिल क्षेत्र में जो गन्ने की कुल उपज है उसकी आधी ही खरीद अन्य मिलों द्वारा होती है जबकि गन्ने की आधी फसल किसान औने पौने दामों पर इधर उधर बेंचने को बाध्य हैं ।

      अतः जनहित में हमारा आपसे आग्रह है कि उक्त का संज्ञान ग्रहण कर समस्या समाधान हेतु सम्बन्धित पक्षों की एक बैठक बुलाकर चीनी मिल चलाने हेतु ठोस पहल करें जिससे चीनी मिल चल सके और क्षेत्र के किसानो को सुविधा जनक गन्ना उत्पादन और बिक्री की सुविधा हो जाय ।

आपके इस प्रयास हेतु क्षेत्रीय किसानों के साथ ही हम सब आपके आभारी होंगें ।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner