Breaking News

ब�रेकिंग न�यूज़

हरदोई ,विनोबा ने अध्यात्म को समाज जीवन में दाखिल किया: प्रो0 पुष्पेंद्र दुबे .

post

हरदोई ,विनोबा ने अध्यात्म को समाज जीवन में दाखिल किया: प्रो0 पुष्पेंद्र दुबे 


हरदोई।संत विनोबा भावे भारत के प्राचीन ऋषि-मुनियों की परंपरा के आधुनिक संत हैं। उन्होंने अध्यात्म को समाज जीवन में दाखिल करने का महान पराक्रम किया। विनोबा वर्तमान युग के अनासक्त कर्मयोगी थे।

यह बात डॉ.पुष्पेंद्र दुबे ने विनोबा जी की 126वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित ऑनलाइन विनोबा विचार प्रवाह संगीति में कही। डॉ.दुबे ने कहा कि विनोबाजी ने सभी धर्मों का अध्ययन कर समन्वय स्थापित करने का बहुत बड़ा काम किया। उनके विचारों से समाज जीवन में व्याप्त अशांति के दूर करने में सहायता मिलती है। डॉ.दुबे ने कहा कि महात्मा गांधी के जीवन और कार्य को समझने में विनोबाजी का चिंतन  सहायता करता है। उन्होंने कहा कि विनोबा साहित्य अमूल्य संपदा है। उसके प्रकाश में समाज जीवन अपने मार्ग की खोज कर सकता है।

देश के विभिन्न भागों में समाज सेवा से जुड़े विश्व युवक केंद्र दिल्ली के मुख्य कार्यकारी अधिकारी उदय शंकर भाई ने कहा कि विनोबा के विचार युवाओं को आकर्षित करते हैं बाबा के विचार ब्रम्ह विद्या मंदिर की बहनों से जब हम सुनते हैं तो वे और ज्यादा जीवन ग्राही हो जाते हैं क्योंकि वे बहनें उन मूल्यों को जीती हैं ।    युवाओं के प्रेरक टाटा ट्रस्ट से जुड़े साथी  किशन भाई अहमदाबाद ने कहा कि बाबा का चुम्बकत्व गुण सभी को प्रेरित करता है ।आज युवा अपना समय अच्छे कार्यों को देना चाहता है बस जरूरत है महापुरुषों के विचार उन तक पहुंचें। विनोबा विचार प्रवाह यही काम कर रहा है।शीना बहन दिल्ली ने बताया कि में दिल्ली हरिजन सेवक संघ की पुस्तकालयाध्यक्ष हूं।मेरे पास जितना भी सर्वोदय साहित्य है उसमें बाबा विनोबा के साहित्य के पाठक ज्यादा हैं ।दिल्ली में बहनों को नया जीवन देने वाली  गीतांजली बहन ने कहा कि हमारी बहनें जो बहुत ही वैसा कार्य करती हैं लेकिन वे भी बाबा के विचारों से प्रभावित होकर अपना एक आश्रम बनाना चाहती हैं ।सबके अंदर मैत्री भाव बढ़ा है ।     अरोबिल पंडुचेरी से जुड़े  देवेन भाई ने कहा कि हम देख रहे हैं कि आज बाबा विनोबा के विचार की घर घर जरूरत है विश्व के स्तर पर जय जगत की महती आवश्यकता है ।        प्रखर भाई ने विनोबा जी के जीवन से मिलने वाली प्रेरणा के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन युवा पीढी के लिए बहुत लाभदायी हैं. ।प्रारंभ में संयोजक रमेश भैया ने विनोबा विचार संगीति के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। संचालन श्री संजय राय ने किया।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner