Breaking News

ब�रेकिंग न�यूज़

इटावा ,डेंगू व मलेरिया के साथ वायरल बुखार के प्रति भी सतर्कता बरतें : सीएमओ.

post

इटावा ,डेंगू व मलेरिया के साथ वायरल बुखार के प्रति भी सतर्कता बरतें : सीएमओ

जिला अस्पताल में 35 व सभी सीएचसी पर चार-चार बेड डेंगू-मलेरिया मरीजों के लिए आरक्षित  


इटावा,3  सितंबर 2021 ।


बरसात के मौसम में लोगों को मलेरिया व डेंगू जैसी बीमारियों से बचने की सख्त जरुरत है। कारण यह है कि डेंगू और मलेरिया के चलते लोगों की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है,जिससे कोरोना का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए यह जरूरी है कि लोगों को मच्छर जनित बीमारियों की चपेट में आने से खुद को बचाना चाहिए ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ भगवान दास ने बताया - डेंगू व मलेरिया के साथ वायरल बुखार के प्रति भी सावधानी बरतें,   जिन लोगों की प्रतिरोधक क्षमता कम है उन्हें संक्रमण का खतरा अधिक होता है।जब व्यक्ति डेंगू और मलेरिया व वायरल बुखार से ग्रसित  होता है तो उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता और कम हो जाती है और वह बुरी तरह से प्रभावित होता है।

उन्होंने बताया जनपद में डेंगू,  चिकनगुनिया और जापानी बुखार का अब तक कोई मामला नहीं मिला है, लेकिन वायरल बुखार से लोग बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। इसलिए अपने घरों के आस-पास साफ - सफाई रखें । गुनगुना पानी पियें और  सुपाच्य व ताजा गरम भोजन लें।

सीएमओ ने बताया - जिला अस्पताल में 35 बेड डेंगू और मलेरिया के मरीजों के लिए आरक्षित कर दिए गए हैं। अभी कोई भी मरीज डेंगू और मलेरिया से ग्रसित  नहीं पाया गया है,  फिर भी अस्पताल में सभी प्रकार की तैयारियां दुरुस्त कर ली हैं । अगर कोई व्यक्ति डेंगू या मलेरिया से पीड़ित है वह तुरंत जिला अस्पताल में आकर जांच कराए । उन्होंने बताया प्रत्येक सीएचसी पर भी चार-चार  बेड डेंगू और मलेरिया के मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं।सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारी  को निर्देश दिए गए हैं कि डेंगू और मलेरिया या अन्य बुखार के प्रति सतर्कता बरती जाए और जनमानस तक स्वास्थ्य सेवाएं जल्द से जल्द पहुंचाई जाएं ।

उन्होंने बताया - गुरुवार को ग्राम संतोषपुर घाट में बुखार फैलने की सूचना मिली तो वह स्वयं अपनी टीम को लेकर गांव पहुंचे कैंप लगाकर मरीजों की जांच की और दवाएं दीं। इस गांव में 35 से अधिक मरीजों की जांच की गई किसी  भी मरीज को जांच में डेंगू और मलेरिया नहीं निकला लेकिन वायरल फीवर से  गांव प्रभावित था।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने  सभी ग्राम प्रधानों से अपील की कि यदि गांव में अधिक संख्या में बुखार के मरीज हैं  तो सीएमओ कार्यालय व सीएचसी चिकित्सा अधीक्षक से वह संपर्क करें जिससे स्वास्थ विभाग की टीम गांव-गांव पहुंचकर कैंप लगाकर मरीजों की जांच और निशुल्क दवा का वितरण कर  सके।

जिला मलेरिया अधिकारी नीरज दुबे बताया -- वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए पूरे जनपद में वृहद साफ सफाई अभियान चलाए जाएगा। सभी ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में एंटी लार्वा  का छिड़काव व फागिंग  करायी जाएगी ।

वर्तमान में बारिश के कारण गड्ढों व निचले स्थानों में जलभराव से बीमारियों के फैलने का खतरा रहता है।

 पूरे जनपद में डेंगू व  मलेरिया की जांच निशुल्क करवाई जा रही हैं।

-  अधिकारी बाढ़/अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्यों की भी मॉनीटरिंग कर रहे हैं ।

-  आशा, संगिनी, आंगनबाड़ी सहित  सभी संबंधित कर्मियों को सक्रिय किया जा रहा है।

- ग्राम्य विकास, नगर विकास, महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य और मेडिकल एजुकेशन विभाग अंतर्विभागीय समन्वय के साथ स्वच्छता और स्वास्थ्य सुरक्षा का विशेष अभियान चलाया जाए। 

- शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित हो। पानी उबाल कर छान कर पीने की जानकारी दें। क्लोरीन की गोलियां वितरित की जाएं। 

- पंचायती राज और नगर विकास विभाग द्वारा बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में भी स्वच्छता-सैनीटाइजेशन का कार्य कराया जाए।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner