Breaking News

ब�रेकिंग न�यूज़

अटरिया ,भंडारे के साथ पंच दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का समापन.

post

अटरिया ,भंडारे के साथ पंच दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का समापन


अटरिया सीतापुर राम कृष्ण के आदर्शों का पालन कर ही आज की पीढ़ी तरक्की के रास्ते पर जा सकती है,हमारे समाज मे संस्कार समाज की आत्मा है और उसे कायम रखना हम सब की जिम्मेदारी है यह बातें   पँचदिवसीय श्रीमद्भागवत कथा के समापन पर प्रतिष्ठित सन्त दिशा अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक चैनल के कथावाचक,सनातन संस्क्रति के प्रसार में अपना पूरा जीवन व्यतीत करने वाले अखंड धाम श्री अचिट्य स्वामी द्वारिकानंद  महाराज ने अनिरुद्ध उषा विवाह प्रसंग का वर्णन करने के दौरान कही। इसके साथ ही सावन के पवित्र मास पर भागवत के सफल आयोजन पर ग्रामवासियों को बधाई दी।अटरिया क्षेत्र के कबरन गांव के खेल मैदान पर कलश यात्रा के साथ शुरू हुई पँचदिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का भक्त महाराज जी द्वारा  रसपान कर रहे थे। बारिश के मौसम में कई तरह की बाधाओं ने भी भक्तों का हौसला नही डिगने दिया।कबरन के साथ क्षेत्र के अन्य गांवों के लोग भारी संख्या लगातार उपस्तिथि दर्ज करा रहे थे। अंतिम दिन हजारों भक्तों की उपस्तिथि पूर्णाहुति के बाद भंडारे का आयोजन हुआ जिसने भारी सख्या में लोगो व जनप्रतिनिधियों ने प्रसाद ग्रहण किया।इस अवसर पर द्वारिकानन्द जी महराज का विशेष स्वागत भी किया गया स्वागत करने वालो में आयोजक लालजी यादव, मनोज, के अलावा रविन्द्र, वीरेंद्र, कोटेदार, संग्राम,संजय,इंद्रपाल,कृष्णकुमार, कृष्णभान,राहुल,अमित अनंत,विपिन,सुमित,योगेश मौर्य,शिवम,शुभम,सौरभ,नीलेश,नितिन,लवकुश,अंकित,मुकेश,शमिल रहे।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner