Breaking News

ब्रेकिंग न्यूज़

गोंदलामऊ ,श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन सुनाई उत्तानपाद की कथा.

post

गोंदलामऊ ,श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन सुनाई उत्तानपाद की कथा


गोंदलामऊ सीतापुर  क्षेत्र के कोठावां गांव स्थित श्री थानेश्वर धाम में चल रही सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के तीसरे दिन कथावाचक पंडित सुधीर चन्द्र अवस्थी ने राजा उत्तानपाद की कथा सुनाई। कथा सुनकर भक्त भावविभोर हो गए। कथा में बताया कि उत्तानपाद सारे राज्य की बागडोर संभाल कर राज्य करने लगे। उनकी एक पत्नि थी सुनिति, राजा उत्तानपाद को सुनिति से कोई संतान नही हुई। बहुत साल तक वे संतान हीन रहे। उनके राज्य की जनता को बहुत चिन्ता हुई कि जब राजा के संतान नही होगी तो राजा के बाद राज्य की देखभाल कौन करेगा। राजा उत्तानपाद एक छोटे से राज्य की राजकुमारी सुरुचि से विवाह कर लेते हैं। राजा उसकी सुन्दरता पर मुग्ध हो गए। अब सुरुचि जो चाहती राजा वही करते। रानी सुनिति राजा से दूर अपने रंगमहल मे ही रहती। कभी भी राजा के सामने नहीं जाती थी। रानी सुनीति प्रभु की भक्ति में लग गयीं। भक्तों ने कथा को बड़े ही चाव से सुना। इस मौके पर गांव क्षेत्र के तमाम भक्त उपस्थित रहे।

Latest Comments

Leave a Comment

Sidebar Banner
Sidebar Banner
Sidebar Banner